Thursday, February 9, 2023
Homeसमाचारधरना दे रहे ग्रामीणों ने आजमगढ़ जिला प्रशासन की सर्वे रिपोर्ट को...

धरना दे रहे ग्रामीणों ने आजमगढ़ जिला प्रशासन की सर्वे रिपोर्ट को झूठ का पुलिंदा बताया 

मंदुरी ( आज़मगढ़)।  जमीन-मकान बचाने को लेकर पिछले 21 दिन से खिरिया की बाग जमुआ में धरने पर बैठे ग्रामीणों ने आजमगढ़ जिला प्रशासन द्वारा भेजी गई सर्वे रिपोर्ट को झूठ का पुलिंदा करार दिया है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी, मुख्यमंत्री, राज्यपाल, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, उड्डयन मंत्रालय को पोस्टकार्ड लिखकर अपनी शिकायत भेजी।

धरने के समर्थन में संयुक्त किसान मोर्चा के राजीव यादव, अवधेश यादव, ओमप्रकाश सिंह, विनोद सिंह, रामाज्ञा यादव मौजूद रहे.

धरने पर बैठे ग्रामीणों ने कहा कि जब प्रशासन सर्वे गांव में किया ही नहीं तो रिपोर्ट कैसे बन गई। इस झूठी रिपोर्ट को बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। अगर प्रशासन ने सर्वे किया तो गांव में सर्वे करने के दौरान के फ़ोटो-वीडियो जारी करे। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी, मुख्यमंत्री, राज्यपाल, प्रधानमंत्री, गृहमंत्री, उड्डयन मंत्रालय को पोस्टकार्ड लिखकर अपनी शिकायत की है।

ग्रामीणों ने एक स्वर में लिखा कि किसी भी कीमत पर जमीन-मकान नहीं देंगे. सरकार को एयरपोर्ट की चिंता है पर हमारे बच्चों की नहीं।  हमारे बाप-दादा ने कितनी मुश्किल से मकान बनाए, हम किसी भी कीमत पर इनको उजड़ने नहीं देंगे।

धरने पर बैठी महिलाओं ने कहा कि 12-13 अक्टूबर में जब प्रशासन सर्वे के लिए आया तो हमने साफ कर दिया कि हम जमीन नहीं देंगे तो किस बात का सर्वे। जिलाधिकारी ने आज तक इस मसले पर कोई बात नहीं कि और न ही देर रात सर्वे के नाम पर महिलाओं के साथ उत्पीड़न करने वाले पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ कोई कार्रवाई ही की गई।

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments