समाचार

बहपुरवा हादसा: कुशीनगर के बीएसए, एआरटीओ प्रर्वतन सहित चार अफसर सस्पेंड

डिवाइन मिशन स्कूल के प्रबंधक प्रधानाचार्य के खिलाफ एफआईआर

गोरखपुर /कुशीनगर। कुशीनगर जिले में दुदही रेलवे स्टेशन के पास बहपुरवा मानव रहित क्रासिंग पर 26 अगस्त को स्कूल बस और पैसेंजर ट्रेन की टक्कर में 13 बच्चों की मौत के मामले में कुशीनगर जिले के चार अफसर सस्पेंड कर दिए गए हैं। सस्पेंड किए गए अफसर हैं-एआरटीओ प्रवर्तन राज किशोर त्रिवेदी, परिवहन विभाग के यात्री कर अधिकारी रणवीर सिंह चौहान, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हेमन्त राव और दुदही ब्लाक के खण्ड शिक्षा अधिकारी शेष बहादुर।

इसके अलावा डिवाइन मिशन स्कूल के प्रबंधक/प्रधानाचार्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी गयी है। घटना के बाद प्रबंधक खुद थाने में हाजिर हो गए थे।

मुख्यमंत्री ने कल दोपहर घटना स्थल का दौरा किया था। वह घायलों को देखने बीआरडी मेडिकल कालेज गोरखपुर भी गए थे। उन्होंने इस घटना की जांच गोरखपुर के कमिश्नर अनिल कुमार को सौंपी थी। मुख्यमंत्री के कुशीनगर और गोरखपुर से लौटने के बाद देर शाम लखनऊ से इस घटना में कुशीनगर के चार अफसरों को सस्पेंड करने का फरमान आ गया।

प्राथमिक शिक्षा विभाग के दोनों अधिकारियों को इस लिए सस्पेंड किया गया है क्योंकि जांच में पाया गया कि डिवाइन मिशन स्कूल बिना मान्यता के पांच वर्ष से चल रहा था। यह स्कूल दुदही के एक अन्य स्कूल सेठ वंशीधर विद्यालय से अपने को सम्बद्ध कर बच्चों को टीसी देता था। सेठ वंशीधर विद्यालय के खिलाफ भी कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

इसके अलावा डिवाइन मिशन स्कूल के प्रबंधक प्रधानाचार्य करीम जहान खान के खिलाफ कल शाम विशुनपुरा थाने में एफआईआर दर्ज करायी गई है। उन पर बिना मान्यता स्कूल संचालित करने और स्कूल के बच्चों की सुरक्षा में लापरवाही बरतने का आरोप है। श्री खान अंग्रेजी के अध्यापक हैं और पांच वर्ष पहले उन्होंने यह विद्यालय स्थापित किया था। दुदही में उन्हें अंग्रेजी के अध्यापक के बतौर अच्छी-खासी लोकप्रियता हासिल है। घटना होने के बाद वह दोपहर खुद विशुनपुरा थाने गए और आत्मसमर्पण कर दिया। तब तक उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं हुआ था।

एआरटीओ प्रवर्तन राज किशोर त्रिवेदी को शिथिल पर्यवेक्षण और परिवहन विभाग के यात्री कर अधिकारी रणवीर सिंह चौहान को घटना के लिए उत्तरदायी बताते हुए निलम्बित किया गया है।

Skip to toolbar