Tuesday, May 17, 2022
Homeसमाचारसपा नेता काली शंकर 10 सूत्रीय मांग को लेकर 27 दिसंबर से...

सपा नेता काली शंकर 10 सूत्रीय मांग को लेकर 27 दिसंबर से अनिश्चित कालीन धरना देंगे

गोरखपुर। समाजवादी पार्टी के नेता काली शंकर ने 10 सूत्रीय मांगों को लेकर 27 दिसंबर से चौरी चौरा स्थित शहीद स्मारक गेट के सामने स्थित मैदान में अनिश्चित कालीन धरना देने की घोषणा  की है।

काली शंकर ने कहा कि उन्होंने विभिन्न मांगों को लेकर के संघर्ष किया परंतु अभी तक हमारी मांगों को शासन-प्रशासन द्वारा अनसुना किया गया है। इसलिए संविधान प्रदत्त लोकतांत्रिक अधिकारों का प्रयोग करते हुए 10 सूत्रीय मांगों को लेकर 27 दिसंबर से अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन करने जा रहा हूँ।

उन्होंने अपनी मांग गिनते हुए कहा कि घटूली घाट के अधूरे पुल, सिंघोड़वा घाट पर पक्का पुल, मटियारा घाट पर पीपा पुल तथा मुंडेरा बाजार 147b रेलवे क्रॉसिंग ओवर ब्रिज जल्द से जल्द बनाया जाए. सरैया चीनी मिल का अधिग्रहण कर सरकार उसे पुनः चलाएं और मजदूरों व किसानों का बकाया भुगतान किया जाए. गरीब किसानों व मजदूरों का बकाया बिजली बिल और लोन माफ किया जाए, सभी पात्र गरीब लोगों को आवास, गरीबी रेखा के नीचे का राशन कार्ड, विधवा और वृद्धा पेंशन दिया जाए, चौरी चौरा जन विद्रोह में दलित और पिछड़े वर्ग के शहीदों के नाम के आगे से जो उनकी जाति जानबूझकर हटाया गया है उसे पुनः स्मारक पर लिखा जाए तथा चौरी चौरा जन विद्रोह में शहीदों के परिवारों को रोजगार और मूलभूत सुविधा दी जाए, चौरी चौरा के नौजवानों को रोजगार का अवसर उपलब्ध कराए जाए तथा उनके शिक्षण प्रशिक्षण के लिए उच्च स्तर के संस्थानों को खोला जाए.

सपा नेता ने मांग की कि  हर गांव में जल जमाव और जल निकासी की समस्या का समाधान किया जाए तथा गांव के लोगों को शुद्ध पेयजल की व्यवस्था कराई जाए, गांव की सड़कों और नालियों को दुरुस्त किया जाए, चौरी चौरा में स्थित बंधो को मजबूत कर उसका उच्चीकरण, पिच्चीकरण और चौड़ीकरण किया जाए जिससे लोगों को अगले साल बाढ़ की समस्या का सामना न करना पड़े, चौरी चौरा में स्थित स्वास्थ्य केंद्रों की हालत बेहतर की जाए और परमानेंट डॉक्टरों की नियुक्ति की जाए तथा उच्च स्तर के हॉस्पिटलों का निर्माण हो जिससे क्षेत्र की जनता को लाभ मिल सके, राप्ती गोर्रा नया ब्लॉक बनाने का सर्वे कार्य जल्दी शुरू कर जल्द से जल्द ब्लॉक घोषित किया जाए किया जाए, नई बाजार को नगर पंचायत घोषित किया जाए, बंद पड़ी किसान मंडी को चलाया जाए, कृषि विज्ञान केंद्र खोला जाए, बाढ़ पीड़ित किसानों का मुआवजा तत्काल दिया जाए, चौरी चौरा को राष्ट्रीय पर्यटन केंद्र घोषित किया जाए, 2600 वर्ष पुराने बौद्ध स्तूप को संरक्षित कर इसे बौद्ध परिपथ से जोड़ा जाए, राजधानी सहित आसपास के गांव का विशेष पुरातत्विक सर्वेक्षण कर प्राप्त हो रहे अति प्राचीन मृदभांड और साक्ष्यों के आधार पर इसे महान सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य की जन्मस्थली और राजधानी होने की संभावनाओं को स्पष्ट किया जाए तथा गांव में जर्जर विद्युत तारों और विद्युत पोलों को बदला जाए तथा राघोपुर सहित कई अन्य स्थानों पर गलत ढंग से रोड के बीच लगे विद्युत पोलों को हटाया जाए.

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments